भारत ने बनाई ऐसी मिसाइल जो 1 मिनट में करेगी 6 देशों का सफाया

11389

दिल्ली: भारतीय सेना लगातार अपनी सैन्य ताकत में इजाफा कर रही है। (India’s intercontinental Ballastic Missiles)

एक के बाद एक रक्षा के क्षेत्र में नई-नई इबारतें भारतीय वैज्ञानिक सेना को मजबूत करने के लिए लिख रहे हैं। ऐसा करने के पीछे भारत केवल एक ही तर्क देता है कि ऐसी खतरनाक मिसाइलों का प्रयोग हिन्दुस्तान केवल और केवल आत्मरक्षा के लिए कर रहा है।भारत की तीनों सेनाएं एक से बढ़कर एक अपने खेमें में जंगी हथियार जोड़ रहीं है। फिर चाहे वो एयर फोर्स के लड़ाकू विमान और मिसाइले हों या फिर नेवी के जंगी जलपोत वही थल सेना के लिए तोपों को भी जंगी बेड़े में शामिल किया जा रहा है। इससे साफ जाहिर होता है कि हमारी सेनाएं युद्ध कौशल के साथ-साथ युद्ध में फतह हासिल करने के लिए खुद को तैयार कर रही है।

भारतीय वैज्ञानिक भी एक के बाद एक नई मिसाइलों को इजाद कर भारतीय सेना को मजबूती देने की कोशिश कर रहे हैं। जिसमे आधुनिक तकनीकि से लैस मिसाइलों को बनाया जा रहा है और सेना को मजबूत करने के इरादे से सेना में शामिल किया जा रहा है। हाल ही में कई मिसाइले तैयार हुई हैं और पहले से भी कई मिसाइले सेना की ताकत की पहचान हैं। आज हम उन्ही मिसाइलों के बारे में बताएंगे कि कैसे वो दुश्मन के किले को भेद सकतीं हैं।

 

सूर्य मिसाइल पर काम कर रहा है DRDO (Intercontinetal Ballastic Missiles)

सूत्रों और मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रक्षा अनुसन्धान और विकास संगठन पिछले कई सालों से सूर्य मिसाइल सिस्टम पर काम कर रहे है।
बताया जा रहा है कि इस मिसाइल का परीक्षण वर्ष 2017 में होने की उम्मीद है।

आगे पढें अगले पेज पर