सर्जिकल स्ट्राइक – भारत की तीनों सेनाएं अलर्ट पर, देश में आतंकी हमले की आशंका

336

दिल्लीः पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने शुक्रवार को कहा कि इस्लामाबाद क्षेत्र में शांति चाहता है, लेकिन हम किसी को भी पाकिस्तान पर बुरी नजर रखने की अनुमति नहीं देंगे। रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक, शरीफ ने यह टिप्पणी जम्मू एवं कश्मीर में और नियंत्रण रेखा पर हाल की स्थिति पर चर्चा के लिए बुलाई गई मंत्रिमंडल की एक बैठक में की। India armed forces on alert.

बैठक में शरीफ ने क्या कहा –
शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान अपने विकास कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए शांति चाहता है लेकिन मातृभूमि की रक्षा के लिए हर पाकिस्तानी तैयार है। प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरा देश सशस्त्र बलों के साथ कंधे से मिलाकर कर खड़ा है और हम किसी को भी पाकिस्तान पर बुरी नजर रखने की इजाजत नहीं हीं देंगे। उन्होंने कहा कि आर्थिक प्रगति और गरीबी व बेरोजगारी से लड़ने के लिए पाकिस्तान शांति चाहता है।

शरीफ ने जोर देकर कहा कि विभाजित (जम्मू एवं कश्मीर) राज्य का एक तिहाई उत्तरी भाग हिस्सा पाकिस्तान के पास है और दो तिहाई दक्षिणी हिस्सा भारत के पास है, जो उपमहाद्वीप के विभाजन का अधूरा एजेंडा है। उन्होंने कहा कि भारत, जम्मू एवं कश्मीर में ज्यादतियां कर रहा है जो पाकिस्तान को स्वीकार्य नहीं है।

India armed forces on alert

इमरान ने कहा – वो मोदी को बताएंगे जवाब कैसे देते हैं –
पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान ने कहा कि वह नवाज शरीफ को बताएंगे कि पीएम मोदी को कैसे जवाब दिया जाना चाहिए।

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाए पाकिस्तान और उसके नेता अब भारत को सबक सिखाने की बात करने लगे हैं। इनमें से ही एक क्रिकेटर से राजनेता बने और तहरीक ए इंसाफ पार्टी के नेता इमरान खान भी हैं। उन्होंने कहा है कि अब वह मोदी को बताएंगे कि जवाब कैसे दिया जाता है। इमरान आज रायविंड में एक रैली करने वाले हैं जिसकी तैयारी वह काफी समय से कर रहे थे। पहले वह इस रैली को पाक पीएम नवाज शरीफ के खिलाफ करने वाले थे लेकिन उन्होंने अब इसका रुख भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ कर दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि नवाज शरीफ भारत के सामने पूरी तरह से फेल साबित हुए हैं।

India armed forces on alert

भारतीय नौसेना अलर्ट, मुंबई में कई कार्यक्रम रद्द (India armed forces on alert) –
सेना और वायुसेना के बाद भारतीय नौसेना को भी अलर्ट कर दिया गया है। मुंबई में होने वाले उसके कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है। शनिवार को युद्दपोत देखने और तीन अक्टूबर को प्रदर्शनी लगाए जाने का कार्यक्रम भी रद्द कर दिया गया है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा की स्थिति की समीक्षा के लिए आईटीबीपी के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आज बैठक करेंगे।

India armed forces on alert

(India armed forces on alert) सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश की सभी सीमाओं पर हाई अलर्टजारी कर दिया गया है। पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग की आशंका के चलते सीमा से लगे 10 किलोमीटर के इलाके को खाली करा लिया गया है। इस दायरे में आने वाले सभी गांववालों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है।

पंजाब में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) के पास के सरकारी अस्पतालों को भी आपातस्थिति के लिए तैयार रहने को कहा गया है। सभी तटीय सीमाओं और सैन्य प्रतिष्ठानों की चौकसी भी बढ़ा दी गई है। जम्मू-कश्मीर के सांबा और आरएस पुरा सेक्टर में आने वाले गांवों को खाली कराया गया है।

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने बुधवार देर रात उरी हमले में शहीद हुए 19 सैनिकों की शहादत का बदला ले लिया। पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक करके सेना ने 38 आतंकियों को मार गिराया और उनके 7 ठिकानों को ध्वस्त कर दिया।