रूस ने मांगी भारत से ब्रह्मोस मिसाइल

2819

एक समय था की भारत को अपनी सुरक्षा के लिए अमेरिका और रूस जैसे बड़े देशों के सामने हथियारों के लिए भीख मांगनी पड़ती थी परंतु अब समय बदल चुका है । भारत की सुरक्षा रणनीति की आज पूरी दुनिया कायल हो चुकी है और ये करिश्मा है भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का । पीएम मोदी के मेक इन इंडिया के सफल होने का इससे बड़ा उधारण और कोई नहीं हो सकता की अब रूस ने भारत में बनी ब्रह्मोस मिसाइल खरीदने की इच्छा ज़ाहिर की है ।

भारत ने चीन और पाकिस्तान जैसे विपक्षी देशों से लोहा लेने के लिए ब्रह्मोस मिसाइल विकसित की थी । रूस अब भारत से ये मिसाइल खरीद कर इसे सुखोई एसयू-30 में लगाना चाहता है । हाल में आई कुछ खबरों को सच माने तो रूस 2017 में अपने लड़ाकू विमानों में भारतीय मिसाइल का परीक्षण करेगी और उसके बाद समझौते पर पीएम मोदी और भारत सरकार से चर्चा करेगी ।

आपको बता दें की ये मिसाइल इतनी खास इसलिए है क्यूंकी ये किसी भी रेडार के पकड़ में नहीं आती और दुनिया का कोई भी एंटी मिसाइल सिस्टम इसे पकड़ भी नहीं सकता । ये मिसाइल किसी भी देश के सुरक्षा प्रणाली को चकमा देकर अपने टार्गेट को छतिग्रस्त कर सकती है । ज़ाहिर है इसीलिए रूस जैसी महाशक्ति भी इसे खरीदने को बेताब दिख रही है ।