रियो 2016: फाइनल में हारकर भी करोड़ों दिल जीत गईं पीवी सिंधु, बनीं रजत पदक विजेता

575

रियो डी जेनेरियो। भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु महिला सिंगल्स के फाइनल मुकाबले में स्पेन की कैरोलिना मरीन के हाथों हार गई हैं। इस हार के साथ ही भारत को रियो ओलंपिक में स्वर्ण पदक मिलने की उम्मीद को भी झटका लगा है। हालांकि, इस मैच में हार के बावजूद पीवी सिंधु ने रजत पदक अपने नाम किया है।

इसके साथ ही पदक तालिका में भारत दो पदकों के साथ बना हुआ है।

इस संघर्षपूर्ण मुकाबले में दोनों ही खिलाड़ियों ने अपना बेस्ट देने की कोशिश की जिसमें से आखिरकार पीवी सिंधु की हार हुई। शुरुआत में पहला गेम पीवी सिंधु ने जीता तो वहीं दूसरा गेम कैरोलिना के नाम रहा।

जबकि तीसरा और निर्णायक गेम कैरोलिना ने जीतकर स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया। इस पूरे मैच के दौरान पीवी सिंधु ने जबरदस्त खेल दिखाया। विश्व नंबर 1 खिलाड़ी के उन्होंने पसीने छुड़ा दिए। उन्हें पीवी सिंधु को हराने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी।

सिंधु को कैरोलिना मैरिन ने 21-19 12-21 15-21 से हराया। हालांकि, पहले गेम में जिस तरह से कैरोलिना ने शुरुआत की थी तब लगा कि मुकाबला आसानी से वह जीत लेंगी। लेकिन पीवी सिंधु भी आसानी से हार मानने वालों में से नहीं थीं। उन्होंने जबरदस्त वापसी करते हुए एक के बाद एक पॉइंट जुटाए और 21-19 से मुकाबला अपने नाम कर लिया।

वहीं दूसरे गेम में सिंधु ने कई गलतियां कीं, जिसका सीधा फायदा कैरोलिना को मिला और उन्होंने एक संघर्षपूर्ण गेम में 21-12 से जीत दर्ज की। इस तरह से दो गेम के बाद दोनों 1-1 की बराबरी पर थीं। इसके बाद तीसरे और निर्णायक गेम में भी कैरोलिना ने बेहतरीन शुरुआत की लेकिन बीच में पीवी सिंधु के कुछ अच्छे स्मैशेज़ की वजह से गेम लंबा खिंचा। इस गेम के अंत में कैरोलिना ने 21-15 से जीत और गोल्ड अपने नाम किया।

इस गोल्डेन मैच में कई पल ऐसे आए जब लगा कि पीवी सिंधु मुकाबले को जीत सकती हैं लेकिन इस मुकाबले में हारकर भी उन्होंने रजत पदक जीत लिया है। भारत का सिर गर्व से उंचा करने वाली सिंधु ने साबित कर दिया कि वह भारत की नई बैडमिंंटन सनसनी हैं।